अन्न काआदर

एक बालक रोजाना स्कूल में खाना खाते वक्त टिफिन पूरी पोंछ कर खाता….. एक कण भी न बचाता । उसके दोस्त उसका मज़ाक उडाते। एक ने पुछा,” तुम रोजाना टिफिन में एक कण भी नही छोड़ते? ” उसका जवाब था … ”यह मेरे पिता के प्रति आदर है जो इसे खरीद कर लाते हैं। और…

” कहाँ थे , कहा पहुच गये. “

” कहाँ थे , कहा पहुच गये. ” एक तौलिये से पूरा घर नाहता था, दूध का नम्बर बारी बारीआता था, छोटा माॅ के पास सो कर इठलाता था, पिता जी की मार का डर सताता था, बुआ के आने से माहौल शान्त हो जाता था, खीर बनती थी तो पूरा घर रविवार मनाता था,…

यही जिन्दगी मे हो रहा है.

. एक दिन किसी निर्माण के दौरान भवन की छटी मंजिल से सुपर वाईजर ने नीचे कार्य करने वाले मजदूर को आवाज दी. . निर्माण कार्य की तेज आवाज के कारण नीचे काम करने वाला मजदूर कुछ समझ नहीं सका की उसका सुपरवाईजर उसे आवाज दे रहा है. . फिर सुपरवाईजर ने उसका ध्यान आकर्षित…

“नाम का फल”

संसार का भ्रमण करते हुए गुरु नानक सच्चे पातशाह ओर मरदाना किसी जंगल से जा रहे थे! मरदाना ने कहा महाराज बहुत भूख लगी हैं! नानक जी नो कहा मरदाना रोटियां सेंक ले, मरदाना ने कहा बहुत ठंड हैं, ना तो कोई चुल्हा हैं और न ही कोई तवा हैं और पानी भी बहुत ठंडा…

वाहेगुरु काका

एक आदमी ❄बर्फ बनाने वाली कम्पनी में काम करता था_ एक दिन कारखाना बन्द होने से पहले अकेला फ्रिज करने वाले कमरे का चक्कर लगाने गया तो गलती से दरवाजा बंद हो गया और वह अंदर बर्फ वाले हिस्से में फंस गया छुट्टी का वक़्त था और सब काम करने वाले लोग घर जा रहे…

You Choose!

This is a great analogy: You are holding a cup of coffee when someone comes along and shoves you or shakes your arm, making you spill your coffee everywhere. Why did you spill the coffee? “Well because someone bumped into me, of course!” Wrong answer. You spilled the coffee because coffee was in the cup….

Fifty Bucks is Fifty Bucks!

Ed and his wife Norma go to the state fair every year, And every year Ed would say, “Norma, I’d like to ride in that helicopter ” Norma always replied, ” I know Ed , but that helicopter ride is fifty bucks, And fifty bucks is fifty bucks! ” One year Ed and Norma went…

Let’s Start Talking Again

We, as a society, really have no idea how suffocated people are in their emotions. Most people have nobody to express themselves entirely to. Everyone is holding back their vulnerabilities to maintain the social image of a confident and happy person. Heart-to-heart conversations have become rare, artificial and shallow. Most hearts are filled with empty…

Be Good to Yourself

It is not important whether you believe in spirituality or not, the four principles of spirituality apply to all from the moment one is born and will remain there till the end! Four principles of spirituality The First Principle states: “Whomsoever you encounter is the right one” This means that no one comes into our…

Happiness – BE HAPPY ALWAYS

Happiness can be divided into three categories: 1. Physical happiness; 2. Mental happiness; 3. Spiritual happiness. These are brief summary of steps to take for achieving these in our lives: For Physical Happiness: a. Regular and proper DIET. b. Regular and proper REST. c. Regular and proper EXERCISE. For Mental Happiness: a. Minimize Expectations. b….

Dedicated to all working women👇

मिट्टी के शहज़ादों को.. लौह परी चाहिए , देखने सुनने में तो…मदभरी चाहिए , घर ..बाहर के कामों में.. खरी चाहिए , मिट्टी के शहज़ादों को ..लौह परी चाहिए…!! एक ही पल में वो ..बचपने को छोड़ के , हर जरूरत का खयाल ..हर एक का रखे , वक्त पड़े तो माँ.. बहन..देवी भी.. हो…

We should concentrate on our priorities and not on others mistakes.

A boy went to the Principal and said “Madam, I won’t be coming to School anymore.” The Principal responded “But why?” The boy said “Ah! I saw a teacher speaking bad of another teacher; You have a Sir who can’t read well; the staff is not good; Students look down upon their fellow students and…